Lifesaver Hindi

- हमारा लक्ष्य - लाइफसेवर में किसी को भी बीमारी और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के बारे में जानकारी दी जा सकती है।



Lifesaver

शनिवार, 13 अप्रैल 2019

गर्मी में त्‍वचा कि देख भाल

गर्मी में त्‍वचा कि देख भाल|

र्मी अपने चरम की ओर बढ़ रही है । ऐसे में त्वचा को खास देखभाल की जरूरत होती है । गर्मी की तेज धूप के मौसम में पसीने , धूल , प्रदूषित हवा , धुएं से त्वचा के पोर्स पर असर पड़ता है । यह मौसम पसीने की समस्या लेकर आता है । जिससे खुजली जैसी विभिन्न त्वचा संबंधी  समस्याएं पैदा हो जाती है । गर्मी का मौसम चेहरे की त्वचा के लिए काफी
नुकसानदायक होता है । इस दौरान चेहरा अपनी नमी को भी खो देता है । त्वचा में चमक बनाए रखने के लिए सही फेशियल आयल और टैनिंग से बचाव के लिए  सनस्क्रीम का इस्तेमाल करें । उमस , पसीना और तेज धूप की किरणें नई - नई समस्याएं पैदा करती हैं । स्किन टैन होने से लेकर फंगल इंफेक्शन , मुहांसे , बालों का झड़ना और एलर्जी आदि से लोग परेशान रहते हैं । अगर इस मौसम में भी अपनी सेहत को लेकर जरा सचेत हो जाएं तो काफी हद तक इन । समस्याओं को रोका जा सकता है ।


  • फंगल इंफेक्शन समस्या व निदान गर्मी के दिनों में सबसे ज्यादा खाज की शिकयत होती है जिसे फगल इंफेक्शन कहते हैं । उमस और गर्मी में यह फंगल इंफेक्शन बहुत बढ़ जाता है ।
  • फंगल को रोकने के लिए जरूरी है कि आप अपने शरीर को साफ रखें । पसीने से भीगे कपड़ों को जल्द ही निकाल दें। नियमित रूप से पाउडर का प्रयोग करें।
  • अगर खुजली हो जाए तो इसका डाक्टर के परामर्श व सलाह से ही इलाज़ करवाए क्योकि कभी कभी खुजली का सही से इलाज न होने पर घाव हो जाता है।


क्या हैं समस्याएं


  • सन बर्न व स्किन टैनिंग की समस्या जिसमें त्वचा काली पड़ने के साथ झुलसी हुई सी प्रतीत होती है और चमक कम हो जाती है ।
  • गर्मी में ज्यादातर त्वचा तैलीय हो जाती है और चेहरे पर कील - मुहासे होने लगते हैं । 
  • अचानक बालों का झड़ना बढ़ना शुरू हो जाता है ।
  • एलर्जी से त्वचा में खुजली व दाने की समस्या हो जाती है ।


क्या है उपाय -



  •  तेज धूप में जाना हो तो सिर पर टोपी , हेलमेट लगाकर जाएँ और चेहरे को दुपट्टे या कपड़े से ढक कर रखें ताकि धूप की सीधी किरणे न पड़े । धूप से बचने के लिए सनस्क्रीम का इस्तेमाल करे इससे त्वचा में नमी बनी रहती है व टैनिंग से बचाव भी होता है |
  • गर्मी में चेहरे को साफ पानी से कई बार धोएं इससे ताजगी का अहसास होगा पर त्वचा को रगड़े नहीं । मेकअप का प्रयोग ज्यादा न करे क्योकिं पसीना आने से एलर्जी की सम्भावना ज्यादा बढ़ जाती है ।
  • चेहरा तैलीय हो तो सनस्क्रीम का प्रयोग करें त्वचा के अनुसार चिकित्सक की सलाह पर ही फेसवाश चुनें । अगर त्वचा संवेदनशील प्रकृति की है तो चिकित्सक की सलाह पर शैपू और फेस वॉश का इस्तेमाल करें |
  • गर्मियों में कठोर साबुन के प्रयोग से बचें । पसीने को रोकने के लिए पाउडर का प्रयोग करे । गर्मी में ढीले और हवादार कपड़े पहनें । चुस्त कपड़ों का इस्तेमाल न करें ।


समस्या के कारण

डिहाइड्रेशन , पानी की कमी व सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणों का शरीर पर सीधे असर पड़ना। पसीने और उमस की वजह से फंगल होना । तैलीय त्वचा वाली स्किन होने पर धूल के वजह से कील मुहासे निकलना।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें